अग्निवीर योजना: परिवर्तनशील पहलों के साथ समाज को सशक्त बनाना

  Agnipath Yojana 

Indian Armed Forces में Recruitment के लिए सरकार ने 14 जून 2022 को एक नई स्कीम “Agnipath yojana” को Introduce किया / इस योजना के तहत जवानों को 4 साल के लिए देश की सेवा करने का मौका मिलेगा और उन्हें अग्निवीर के नाम से जाना जाएगा अधिक जानकारी के लिए उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट पर जा सकते हैं/ 

क्या है अग्निपथ और अग्निवीर ? 

अग्नीपथ का अर्थ होता है – आग का रास्ता और अग्निवीर का अर्थ होता है – आग का योद्धा |

अग्निवीर -इस योजना के तहत लगने वाले युवाओं को अग्निवीर के नाम से जाना जाएगा |

अग्नीपथ- एक योजना है जो कि भारत सरकार द्वारा जून 2022 में  introduce की गई | इस योजना के तहत सशस्त्र  बालों की 3 सेवाओं  यानी थल सेना, जल सेना और वायु सेना में लाखों युवाओं को सेना में भर्ती के लिए अवसर देने के लिए आरंभ की है इस योजना में जवानों को 4 साल के लिए देश की सेवा करने का मौका मिलेगा|

 

अग्नीपथ भारत सरकार द्वारा सेना में 4बहाली हेतु लाई गई एक महत्वकांक्षी योजना है जिस पर सरकार 90 दिनों के भीतर एक्शन लेगी और साथ ही सभी उम्मीदवार नियमित संवर्ग में भर्ती के लिए बैतोर वालंटियर आवेदन कर सकते हैं |

 अग्नीपथ योजना में भर्ती प्रक्रिया :


इस योजना के तहत पुरुष और महिलाएं दोनों ही के लिए आवेदन कर सकते हैं आवेदन देने के लिए न्यूनतम आयु 17 साल 6 महीने और अधिकतम आयु 21 साल निर्धारित की गई है( केवल साल 2022 के लिए 23 वर्ष रखी गई है|) अग्निपथ में भर्ती होने वाले युवाओं को केवल 4 साल के लिए सेना में फुल टाइम के लिए नौकरी दी जाएगी और 4 साल पूरे होने पर 25 %युवाओं को सेना में ही  रखा जाएगा और शेष 75% नागरिकों जीवन में लौटने की अनुमति दी जाएगी |

भर्ती के लिए आर्मी के पुराने तरीके का पालन किया जाएगा इसके लिए शारीरिक परीक्षण के साथ-साथ युवाओं को लिखित परीक्षा से भी गुजरना होगा |

सेना में चयन होने के बाद अग्निवीर को 6 महीने की ट्रेनिंग और 3.5 साल के लिए सेना में कार्य करना होगा |

Salary Format :

डिफेंस मिनिस्ट्री के ऑफिशल नोटिफिकेशन के अनुसार,अग्निवीर को 30000 से 40000 के बीच सैलरी दी जाएगी|

 शुरुआती सैलरी 30000 होगी 2nd year salary per month 33,000 and 3rd year salary 36,500 कार्यकाल के अंतिम साल मे अभ्यर्थी 40000 वेतन मिलेगा |

  • प्रथम वर्ष काpackage 4.76 लाख रुपए 

  • अंतिम वर्ष package 6.92 लाख रुपए 

4 साल पूरे होने के बाद सेवा निधि पैकेज के रूप में 11.71लाख रुपए मिलेंगे |

अग्निवीर को दी जाने वाली सेवा निधि पूर्णता टैक्स फ्री होगी इस पर सरकार द्वारा कोई टैक्स नहीं लगाया जाएगा |

अग्निवीर को योजना से मिलने वाले लाभ :


इस योजना का लाभ यह है कि हर वर्ष कम से कम 45000 के लगभग युवाओं को रोजगार मिलेगा क्योंकि सरकार के निर्देशानुसार भारतीय सेना हर वर्ष  50,000 के करीब अग्निवीर को भर्ती किया करेगी 

अगर बात करें अग्निवीर को मिलने वाले लाभ के बारे में तो इस योजना के तहत एक अग्निवीर को ₹4800000 जीवन बीमा कवर के रूप में प्रदान किया जाएगा |


इसके अलावा अग्नि वीरों की पहचान के लिए एक अलग से यूनिफार्म कोड दिया जाएगा उनके काम के आधार पर award भी दिए जाएंगे छुट्टियां अग्नि वीरों को 30 दिन की छुट्टियां मिलेंगी और मेडिकल के आधार sick leave पर ले सकते हैं लोन की सुविधा भी   मिलेगी |


सरकार 4 साल बाद छोड़ने वाले सैनिकों के पुनर्वास में मदद करें| skill सर्टिफिकेट ब्रिज कोर्स प्रदान किए जाएंगे |

कार्यकाल के दौरान यदि कोई अग्निवीर देश के लिए शहीद हो जाता है तो उसके परिवार को पूरा इंश्योरेंस कवर मिलेगा इसके अंतर्गत परिवार को सेवा निधि सहित लगभग ₹1croreरुपए की राशि मिलेगी शहीद की  बची हुई सेवा की पूरी सैलरी भी परिवार को मिलेगी |

योजना को लागू करने का उद्देश्य :

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा  Agneepath yojana एक परिवर्तनकारी पहल है जो सशस्त्र बलों को एक youth प्रोफाइल प्रदान करेगी |

सरकार का उद्देश्य अधिक से अधिक युवाओं को सेना में जुड़ने का मौका मिलेगा जिससे देश में बेरोजगारी कम होगी| अग्नीपथ योजना के अंतर्गत युवाओं को सेना से जुड़े प्रशिक्षण देकर उन्हें सशक्त और मजबूत बनाना और उनके आत्मविश्वास  को बढ़ाना जिससे उनमेंअनुशासन के  प्रति जागरूकता पैदा हो और अपने आने वाले भविष्य के लिए तैयार हो सके|

 आखिर इस योजना की जरूरत क्या थी ?

इससे भारतीय सैनिकों की औसत उम्र कम हो जाएगी सेना ज्यादा से ज्यादा युवा रहेगी उनके कार्य क्षमता ज्यादा होगी अभी भारतीय सैनिकों की उम्र 32 साल है जबकि अमेरिका सैनिकों की औसत उम्र 27 साल है और ब्रिटेन के सैनिकों की औसत उम्र 30 साल है लेकिन स्कीम की मदद से हम आने वाले कुछ सालों में औसत उम्र 32 साल से 26साल  हो जाएगी| साथ ही मिलिट्री पर पेंशन  और सैलरी का लोड भी कम हो जाएगा |Defence expert का कहना है कि बजट का55% हिस्सा salaries or pension पर खर्च होता है |17 साल ड्यूटी करने वाले  जवान के बदले अगर अग्निवीर को सेना में रखा जाता है तो115million rs की की बचत की जा सकती है| इस cost-cutting की मदद से सरकार हथियारों की खरीद पर ज्यादा पैसा खर्च कर पाएगी|


यह स्कीम इतनी controverce क्यों है ?


इस स्कीम के controverce  होने के कई कारण है 4 साल नौकरी करने के बाद 75% युवा बेरोजगार हो जाएंगे और उन्हें दूसरी नौकरी मिलने में मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा साथ ही उनकी शिक्षा अधूरी रह जाएगी और यह service कमीशन पोस्ट के लिए नहीं है जैसे कि lieutenants and lieutenant generals इन selected candidates कोnon-commissioned Ranks के लिए भर्ती किया जाएगा जैसे सिपाही, कलर, नायक की rank  के लिए और साथ ही अग्नि वीरों को कोई पेंशन की सुविधा नहीं दी जाएगी |


FAQ :


1.अग्निपथ योजना के लिए कौन पात्र है?


  यह एक अखिल भारतीय योजना है इसलिए कोई भी भारतीय युवा इस नौकरी के लिए आवेदन कर सकता है और सेना में शामिल होकर देश की सेवा कर सकते हैं

2. अग्नीपथ योजना कितने साल की है?


    केंद्र सरकार की अग्निपथ भर्ती योजना 2022 इस योजना के तहत युवकों सेना में 4 साल की बहाली के लिए लाई गई है यह एक महत्वकांक्षी योजना है|

3.  अग्निपथ योजना के 4 साल बाद क्या होता है?


      सेना भर्ती हुए युवाओं को उनकी पसंद की सेवा में भर्ती किया जाएगा और 4 साल कार्यकाल के बाद,25%  अग्निवीर को  रखा जाएगा और 75%  को नागरिक जीवन में लौटने की अनुमति जाएगी|


4.   अग्निवीर को 4 साल बाद कितने पैसे मिलेंगे ?


      सेना में अपना कार्यकाल पूरा करने पर अग्निवीर को एकमुश्त “सेवा निधि” पैकेज मे 11.71 लाख रुपए भुगतान  किया जाता है |


5.  किस सेना  ने सबसे पहले अग्नीपथ योजना के तहत भर्ती प्रक्रिया शुरू की ?


     वायु सेना के द्वारा सबसे पहले अग्निपथ योजना के तहत भर्ती प्रक्रिया शुरू की गई थी |


6.  अग्निपथ स्कीम  कौन – कौन से भत्ते दिए जाते हैं?


     चयन होने वाले   उम्मीदवारों को वार्षिक पैकेज रिस्क एक हार्डशिप ,राशन, ड्रेस और यात्रा जैसे भत्ते  दिए जाते हैं |


7.अग्नीपथ सेवा निधि क्या है?


   सेना में अग्निवीर अपना कार्यकाल पूरा कर लेता है तब उसे मिलने वाली एकमुश्त रकम सेवा निधि होती है इसमें हर माह वेतन का 30%  हिस्सा अग्निवीर के वेतन से काटकर और इतनी ही राशि सरकार भी जमा करती है जमा राशि पर ब्याज लगने के कारण 4 साल में यह राशि11.70  लाख रुपए हो जाती है |


8. क्या अग्नीपथ योजना में भर्ती हुए युवाओं को पेंशन मिलेगी?


    योजना के तहत अग्नि वीरों को कोई पेंशन  नहीं दी जाएगी इसके अलावा उन्हें एकमुश्त  रकम दी जाएगी |


9. अग्निपथ योजना क्या है?


    भारत सरकार द्वारा इस योजना की घोषणा 14 जून 2022 को की गई थी इस योजना के तहत सशस्त्र बल की तीनो सेवाओं यानी थल सेना, जल  सेना, वायु सेना में युवाओं को भर्ती के अवसर देने के लिए प्रारंभ की गई है उन्हें “अग्निवीर” के नाम से जाना जाएगा |


10.  अग्निवीर आयु सीमा क्या है ?


      आवेदक की न्यूनतम उम्र 17.5 और अधिकतम उम्र 21 वर्ष होनी चाहिए | 


11. अग्निवीर के लिए कितनी पढ़ाई चाहिए?


     उम्मीदवार  का 12 वी  पास यानी प्रत्येक विषय में कम से कम 33 फ़ीसदी अंक होने जरूरी है और साथ ही अग्निवीर टेक्निकल के लिए 12 वी  साइंस स्ट्रीम ( फिजिक्स, केमिस्ट्री  और मैथ्स)  से 50  फ़ीसदी  marks  के साथ पास होना चाहिए या फिर मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रॉनिक, ऑटोमोबाइल, कंप्यूटर साइंस अथवा इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी  इंजीनियरिंग 3 वर्षीय डिप्लोमा कोर्स होना चाहिए साथ ही अंग्रेजी में 50%  से अधिक होने चाहिए | 


12. क्या अग्निवीर परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग होती है?


      इस परीक्षा में कुल 50 प्रश्न पूछे जाएंगे प्रत्येक सही उत्तर के लिए 2 अंक और गलत उत्तर के लिए 0.5  marks  की negative marketing  है  यह परीक्षा कुल 100 अंको की होती है |


13. क्या अग्निवीर में  लिखित परीक्षा होती है ?


      जी हां , इस परीक्षा में तीन विषयों से कुल मिलाकर 50 प्रश्न पूछे जाते हैं और प्रत्येक सही उत्तर के लिए 2 अंक दिए जाते हैं|


14.अग्नीपथ योजना से क्या लाभ है?


     योजना के तहत हर वर्ष कम से कम 45000 युवाओं को रोजगार दिया जिससे बेरोजगारी कम होगी , सेना ज्यादा युवा रहेगी |


15. अग्निवीर योजना के क्या नुकसान है?


     पहला यह की मात्र 6 महीने की ट्रेनिंग से  कोई भी युवा सैनिक नहीं बन सकता एक कारण यह भी है कि सैनिकों में देश के प्रति सेवा और समर्पण का अभाव अधिक होगा | 4 साल बाद सेना अनुभवी सैनिकों को खो देगी |


16. सेना में अग्निवीर शहीद हो जाता है तो क्या होगा ?


      यदि कोई अग्निवीर देश के लिए शहीद हो जाता है तो उसके लिए परिवार को पूरा इंश्योरेंस कवर मिलेगा इसके अंतर्गत शहीद परिवार को सेवा निधि सहित लगभग 1 crore रुपए की राशि मिलेगी शहीद की बची हुई सेवा की पूरी सैलरी भी परिवार को मिलेगी |


18.  अग्निवीर को कितनी सैलरी मिलती है?


       डिफेंस मिनिस्ट्री के ऑफिशल नोटिफिकेशन के अनुसार, अग्निवीर को 30,000  से40,000  के बीच सैलरी दी जाएगी शुरुआती सैलरी30,000 होगी और अंतिम वर्ष  में अभ्यर्थी को 40,000 वेतन मिलेगा |


       


Leave a Comment